ब्लैक होल क्या है? | ब्लैक होल को ब्लैक होल क्यों कहा जाता है?

ब्लैक होल इस ब्रह्मांड के सबसे अजीब जगहों में से एक है। Black Hole  को अगर हम आसान भाषा मे कहे तो यह एक Space की ऐसी जगह है, जहां की जहाँ भौतिक विज्ञान का कोई भी नियम काम नही आता। ब्लैक होल की Gravity इतनी ज्यादा होती है, कि जिससे दुनिया की कोई भी चीज बच नही सकती। यहां तक कि प्रकाश भी नही।

 

कोई भी चीज ब्लैक होल बन सकती है। जिस चीज की Dencity या घनत्व जितना ज्यादा होता है, उतनीही उस चीज की Gravity याने की गुरुत्वाकर्षण शक्ति ज्यादा होती है। 

 

Black Hole की Dencity घनत्व बहुत  ज्यादा होता है। इस वजह से ब्लैक होल की गुरुत्वाकर्षण शक्ति भी बोहोत ज्यादा होती है। इतनी ज्यादा की यह Light याने की प्रकाश को भी अपनी ओर खींच लेती है मतलब Light भी इसमेंसे होकर नाही निकल सकती।

 

प्रकाश Light इस Universe की सबसे उच्चतम Speed से traval करती है। फिर भी लाइट ब्लैक होल की Gravity से बचकर नही निकल सकती। तो बाकी सब चीजें ब्लैक होल की Gravity से कहाँ बच पाएंगी?

 

अगर किसीभी Object को ब्लैक होल बनाना हो तो यह तभी संभव है, जब उस Object को बोहोत ही ज्यादा Compres कर दिया जाए। मान लीजिये की अगर माउंट एवरेस्ट को बोहोत ही ज्यादा कंप्रेस कर के 1 नैनो मीटर से कम साईज़ में कर दिया जाए तो माउंट एवरेस्ट ब्लैक होल में तब्दील हो जाएगा।

 

अगर पृथ्वी को कंप्रेस करके एक मटर के दबे जितना छोटा कर दिया जाए तो पृथ्वी एक ब्लैक होल बन सकती है।

 

इसी सिद्धांत पर ब्रह्मांड में जो पृथ्वी से भी कई गुना बड़े तारे होते है। जब उन तारों की मौत होती है। जिसे Supernova कहते हैं। तब वह तारे अपने आप मे ही सिमटते जाते हैं। और वह लगभग पृथ्वी के आकार के हो जाते हैं। तब उनका घनत्व बोहोत ज्यादा हो जाता है। इसके साथ उस तारे की Gravity भी बोहोत ज्यादा बढ़ जाती है। और वह तारा Black Hole बन जाता है। जो पृथ्वी या पृथ्वी से भी बड़ा हो सकता है।

 

पृथ्वी या पृथ्वी से बढ़े ग्रह उस Black Hole की Gravity की चपेट में आ सकते हैं।और जिसमे हमारी पूरी Milky Way Galaxy भी समा सकती है। और प्रकाश भी इससे बच नही सकता।

 

Singularity

तारे का वह छोटा  Point जहां तारा सिमटकर एक ब्लैक होल में Convert हो जाता है। जब उसकी मौत, यानी कि Suparnova होता है। तारे के उस Point को Singularity कहते हैं।

 

Event Horizon

Black Hole की वह बाउंडरी जंहा से प्रकाश बच के निकल नही सकता। उसे Event Horizon कहते हैं। Event Horizon से बाहर से तो रोशनी बच कर जा सकती है। लेकिन Event Horizon के अंदर से प्रकाश का बच निकलना असंभव है।

 

Black Holes Ko Black Holes Kyon Kehte Hain?

 

किसी भी Object को अगर हम देखना चाहें तो उस Object पर प्रकाश का पड़ना जरूरी होता  है। प्रकाश उस Object  से Reflect होकर जब हमारी आंखों पर पड़ता है। तब हमें वह Object दिखाई देता है।

 

ऐसा नही है की Black Hole में Light नही होती। Light होती है लेकिन ब्लैक होल की ज्यादा Gravity के कारण उससे प्रकाश Light Reflect होकर या उससे बचकर नही जा सकती। इसलिए वह प्रकाश इंसानी आंखों तक नही पोहोंच पता इस वजह से हमे ब्लैक होल के भीतर सिर्फ एक काला गोला दिखाई देता है।

 

Back Hole के Event Horizon के बाहर तक का दृश्य देखना इंसान के लिए संभव है। लेकिन Event Horizon के अंदर देख पाना असंभव है। इस वजह से ब्लैक होल एक काले गोले जैसा दिखाई देता है। जिसमे कुछ नजर नही आता। इसलिए इसे ब्लैक होल कहते है।

 

ब्लैक होल Affect Time

 

Kya ब्लैक होल Ke Jariye Time Travel kiya Ja Sakta hai?

 

ब्लैक होल का प्रभाव समय यानी कि Time पर भी होता  है। Black Hole का घनत्व इतना ज्यादा होता है कि यह Space Time को भी बदल देता है। जो Object Black Hole के पास होता है। वह Object Time को धीरे अनुभव करता है। मतलब Black Hole के पास का Time, Space की बाकी जगहों से धीरे चलता है।

 

मान लीजिए की आप किसी Spaceship से एक Black Hole के Event Horizon से सुरक्षित अंतर रखकर उस ब्लैक होल का चक्कर लगा रहे हों। तो उस Spaceship में आप जो समय बिता रहे होंगे वह समय ब्रह्मांड की बाकी जगहों के समय के मुकाबले बहुत ही धीमा चल रहा होगा।

 

आपने अगर उस Spaceship में 1 घंटा बिताया होगा तो पृथ्वी के समय के मुकाबले  पृथ्वी का 1 घंटे से कई ज्यादा समय गुजर जाएया। यह समय उस Spaceship में बिताय 1 घंटे से कई Minutes, कई घंटे, कई दिन, या फिर कई साल ज्यादा हो सकते हैं। इस तरह आप Black Hole के जरिये समय यात्रा Time Travel कर सकते हैं।

 

Agar Koi Insaan ब्लैक होल Mai Gir Jaye To Kya Yoga?

 

कल्पना कीजिये कि कोई इंसान Black Hole में गिर जाए। तो क्या होगा?

आप सोच रहे होंगे कि वह इंसान तेजी से उस Black Hole में समा जाएगा। नही! ऐसा नही गोगा। शुरुवात में उस इंसान की  Body का जो भी हिस्सा ब्लैक होल की तरफ होगा वह हिस्सा Black Hole अपनी High Gravity से अपनी ओर खींचने लगेगा। उससे होगा यह कि उस इंसान का Body का वह हिस्सा एक रबर की तरह खींचता जाएगा। ऐसा इसलिए होगा क्योंकि उस हिस्से पर Gravity का सबसे ज्यादा प्रभाव होगा। Body में खिंचाव के कारण उस इंसान के Body के सेल्स बिखर जाएंगे। अंत मे उस इंसान की मौत हो जाएगी। 

 

लेकिन ऐसा होना हमारी इस जिंदगी मैं तो लगभग संभव नही है। क्योंकि हमसे सबसे पास वाला ब्लैक होल हमसे हजारों प्रकाशवर्ष दूर है। 

 

Dharti  Se Sabse Paas Kaun Sa ब्लैक होल Hai?

 

जैसे कि हमने आपको पहले बताया कि Black Hole धरती से हजारों प्रकाशवर्ष दूर है। उनमेसे एक है SYGNUS_X-1 जो धरती से 6000 प्रकाशवर्ष दूर है। और उसका Mass सूर्य से 15 गुना ज्यादा है। लेकिन इस Black Hole के धरती से इतने करीब होने के बावजूद धरती और हमारे सौर मंडल पर इसका कोई प्रभाव नही पड़ेगा। तो हमे ज्यादा डरने की बात नही है।

 

तो दोसतो ऐसेही रोचक सवलो के जवाब जनाने के लिये हमरा Blog Visit करते रहें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: